क्या गलत ब्रा साइज़ ब्रैस्ट कैंसर का कारण बन सकती हैॽ

by | Dec 11, 2019 | Breast Cancer, Self Care | 0 comments

ब्रैस्ट कैंसर को लेकर कई नई बातें सामने आ रही हैं। जिनसे वाकिफ होना हर महिला के लिए ज़रूरी होता है। लेकिन पूरी जानकारी का न होना कई बार आपकी जान के लिए खतरा बन सकता है। तभी तो ब्रैस्ट कैंसर की समस्या इतनी तेज़ी से बढ़ रही है। एक रिसर्च के अनुसार आने वाले समय में ब्रैस्ट कैंसर से होने वाली मौतें बढ़कर 40% तक पहुंच जायेंगी। इसलिए इस बारे में महिलाओं का जागृत होना बहुत ज़रूरी है। ये चिंता का विषय इसलिए भी है क्योंकि कम उम्र की महिलाएं भी इसका शिकार हो रही हैं। हम अनेक बार बैक पैन और शोल्डर पैन को सामान्य समझ लेते हैं। जबकि संभव है कि ये ब्रा फिटिंग की गड़बड़ी से हुआ हो। ऐसे ही हम ब्रैस्ट पैन को भी अनदेखा कर देते हैं। यही नहीं गलत साइज़ की ब्रा पहनने से आपका बॉडी पोस्चर भी खराब होता है। इसलिए आपको सही और अच्छी क्वालिटी की ब्रा ही पहनना चाहिए। इस संबंध में हम आपको विस्तार से जानकारी देते हैं।

लापरवाही से जागती है ब्रैस्ट कैंसर की आशंका

जब आप किसी बात को इस कदर बढ़ा लें कि उसका कोई समाधान ही न हो तो उसकी ज़िम्मेदारी आपकी। अगर थोड़ी परेशानी के रहते हुए आप सतर्क हो जाएं तो किसी भी बीमारी से बचना आसान होता है। ब्रैस्ट कैंसर में भी यही बात लागू होती है। महिलाएं अपने स्वास्थ्य के प्रति जो लापरवाही दिखाती हैं, वो हर लिहाज़ से गलत है। इसलिए अपनी सेहत को लेकर हमेशा ज़िम्मेदार रहें, इससे बहुत सारी चीज़ें आसान हो जायेंगी।

घबराएं नहीं ब्रैस्ट कैंसर की सही जानकारी लें

बात यहीं पर खत्म नहीं हो जाती है। अब क्योंकि महिलाओं में ब्रैस्ट कैंसर को लेकर जागरूकता भी बढ़ी है इसलिए वह छोटी-छोटी बातों से डरने लगती हैं। लेकिन इसमें डरने की भी ज़रूरत नहीं है। आपको बस ब्रैस्ट कैंसर से जुड़ी सभी तरह की जानकारी होना चाहिए। इससे आप उन सभी कारणों से दूर रह सकती हैं जो आपमें इस बीमारी को पैदा कर सकते हैं।

सही साइज़ की ब्रा पहनना बहुत ज़रूरी है

जैसे-जैसे एक लड़की सयानी होती है उसके शरीर में अनेक परिवर्तन होने लगते हैं। इसी क्रम में उसके स्तनों का विकास भी जुड़ा होता है। मां या घर की किसी बड़ी महिला की ज़िम्मेदारी है कि वह शरीर के परिवर्तन के बारे में बच्ची को समझाएं। याद रखिये आपके समझाने का तरीका डराने वाला न हो। इससे आपकी बेटी अपने आने वाले भविष्य को लेकर आशंकित नहीं होगी। साथ ही अपनी बेटी को सही नाप की ब्रा पहनाने की शुरुआत भी आपको कर देना चाहिए। इसके लिए आप शॉप पर एक ट्रायल भी ले सकती हैं।

भारी ब्रैस्ट की वजह से हो सकता है बैक पैन

ऐसा कई महिलाओं के साथ होता है कि उनके ब्रैस्ट बहुत भारी होते हैं। हो सकता है ये मोटापे के कारण हो या फिर हॉर्मोंस इसका कारण हों। लेकिन संभव है कि इसके कारण आपको बैक पैन भी हो जाये। कई बार बहुत टाइट ब्रा पहनने से भी बैक पैन हो सकता है। अगर आपको निरंतर बैक पैन बना रहता है तो ज़रूरी है कि आप किसी डॉक्टर को दिखाएं।

गलत ब्रा दे सकती है शोल्डर पैन

बैक पैन के बाद अब बारी आती है शोल्डर पैन की। जी हां सही ब्रा साइज़ के न होने से या फिर बहुत टाइट ब्रा के पहनने से शोल्डर पैन की स्थिति बनती है। कई बार यदि ब्रा आपके ब्रैस्ट का वेट नहीं उठा पाती तो सारा प्रेशर शोल्डर पर आ जाता है। ऐसे में शोल्डर पैन होना सामान्य बात है। जब स्थिति बहुत बिगड़ जाती है तो संभव है कि आपकी ये अनदेखी आपको ब्रैस्ट कैंसर तक पहुंचा दे।

ब्रा फिटिंग में गड़बड़ी न करें

जैसा हमने आपको बताया कि कई बार फिगर को अच्छा दिखाने के चक्कर में महिलाएं टाइट ब्रा पहनती हैं। इससे स्तनों की मांसपेशियों में रक्त का स्त्राव रुकता है। साथ ही आपको बहुत ढीली ब्रा फिटिंग भी यूज़ नहीं करना चाहिए। इससे आपको आराम तो मिलेगा लेकिन आपका फिगर इससे बिगड़ जायेगा। ब्रा फिटिंग के लिए आपको सही माप की ज़रूरत होती है। इसलिए आपको ऐसी ब्रा फिटिंग पहनना चाहिए जो आपको न तो टाइट हो न ढीली।

ब्रैस्ट पैन के भी हो सकते हैं अनेक कारण

माहवारी के समय अक्सर ब्रैस्ट पैन और सूजन जैसी समस्या आती है। माहवारी के चक्र के पूरे होने के साथ ये ब्रैस्ट पैन ठीक हो जाता है। लेकिन ब्रैस्ट पैन का लंबे समय तक बना रहना ब्रैस्ट पैन से जुड़ा माना जा सकता है। लेकिन ये जांच के बाद ही स्पष्ट हो सकता है। संभव है कि ब्रैस्ट पैन हॉर्मोन की अनियमितता के कारण भी हो। इसलिए घबराएं नहीं सही समय पर डॉक्टर को दिखाकर उनकी सलाह लें।

तो आप भी अपने आप को ब्रैस्ट कैंसर से सुरक्षित रखिये और दूसरों को भी इसके लिए जाग्रत कीजिये।

ब्रैस्ट कैंसर पर आधारित ये जानकारी आपको पसंद आई हो तो इसे शेयर करें। कमेंट सेक्शन में अपने विचार लिखें और पोस्ट को रेटिंग देना न भूलें।

ब्रैस्ट कैंसर से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए हमारे हेल्थ A-Z और सेल्फ केयर सेक्शन को भी ज़रूर देखें। इसी तरह की अन्य जानकारी के लिए वामा टुडे के हेल्थ सेक्शन को ज़रूर विज़िट करें।