किस बात का संकेत है आंखों के पास कॉलेस्ट्रॉल का जमना?

by | Sep 17, 2019 | Cholesterol, Self Care | 0 comments

आपके शरीर में कॉलेस्ट्रॉल का बढ़ना अनेक बीमारियों का कारण बन जाता है। इसी में दिल की बीमारियों की भी शामिल किया जा सकता है। लेकिन आपको ये जानकर आश्चर्य होगा कि आई प्रॉब्लम के अलावा अन्य समस्याएं भी संकेत देने के लिए आंखों का सहारा लेती हैं। संभव है ये समस्या आंखों के आस-पास भी हो जाये। कॉलेस्ट्रॉल डिपॉजिट भी ऐसी ही एक समस्या है। लिपिड्स के अनियंत्रित होने से भी ये समस्या हो सकती है। इसके अलावा हाइपोथायराइडिज्म की भी एक संभावना बनती है। आइये इसके बारे में विस्तार से जानें।

कॉलेस्ट्रॉल का बढ़ना है एक चेतावनी

आपको बता दें कि कॉलेस्ट्रॉल का जमना सिर्फ आई प्रॉब्लम का संकेत नहीं है। इससे अन्य बीमारियों के होने की आशंका भी बढ़ जाती है। आंखों के पास जहां आइब्रो का नाक के पास वाला किनारा मिलता है वहां होता है कॉलेस्ट्रॉल का यह डिपॉजिट। यह एक पीले रंग की गठान होती है जो आमतौर पर हानिरहित होती है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि इसे अनदेखा किया जाये। ऐसी एक गठान को ज़ेन्थेलेज्मा कहा जाता है। लेकिन अगर यह संख्या में एक से ज्यादा हों तो इन्हें ज़ेन्थेलेजमटा कहा जाता है। नुकसानदायक न होने के बावजूद कॉलेस्ट्रॉल का यह जमाव शरीर में मौजूद किसी गंभीर समस्या का संकेत हो सकता है।

किसी को भी हो सकती है कॉलेस्ट्रॉल डिपाजिट की समस्या

जैसे हमने आपको बताया कि ये कोई आई प्रॉब्लम नहीं है। आंखों के आस-पास होने वाली ये गठान कई तकलीफों की ओर इशारा कर सकती है। कोलेस्ट्रॉल का यह डिपॉजिट मध्य आयुवर्ग के लोगों में ज्यादा देखने में आता है। महिला या पुरुष इसका शिकार कोई भी हो सकता है। फिर भी पुरुषों की तुलना में यह महिलाओं में अधिक होता है। विशेषज्ञ मानते हैं कि खून में लिपिड्स के स्तरों का असामान्य होना इसका कारण हो सकता है। इसमें होने वाली गठानों का आकार छोटा-बड़ा हो सकता है।

हाइपोथायराइडिज्म का संकेत भी हो सकता है ये

आपको जैसे हमने बताया कि ये अनेक बीमारियों से जुड़ा हो सकता है। इसमें कोलेस्ट्रॉल के उच्च स्तर के अलावा हाइपोथायरॉइडज्म या लिवर से जुड़ी समस्या भी शामिल हो सकती है। जी हां यदि आपको हाइपोथायराइडिज्म से जुड़ी कोई समस्या है तो आपमें ये लक्षण उभर सकते हैं। कई बार ये आपस में जुड़कर एक बड़ी गठान भी बना सकती हैं। इनमें आमतौर पर कोई दर्द, खुजली या तकलीफ नहीं होती।

आई प्रॉब्लम की बढ़ जाती है आशंका

हम आपको ये बात पहले भी कह चुके हैं कि ये आई प्रॉब्लम से जुड़ी समस्या नहीं है। लेकिन हां आपकी आंखों में इसके लक्षण ज़रूर उभरते हैं। हां ये ज़रूर संभव है कि इन गठानों के कारण आई प्रॉब्लम ज़रूर हो जाये। वैसे आपको बता दें कॉलेस्ट्रॉल का अधिक जमाव हृदय की धमनियों पर हो सकता है। जिससे हृदय, दिमाग तथा शरीर के अन्य अंगों तक रक्त की आपूर्ति में बाधा आने लगती है। यह स्थिति एंजाइना, हार्ट अटैक, स्ट्रोक आदि जैसी गंभीर मुश्किलें पैदा कर सकती है।

लिपिड्स असंतुलन से जुड़ी है ये समस्या

कई बार लिपिड्स का स्तर असंतुलित हो सकता है। कुछ शोध तो यह भी बताते हैं कि कई बार लिपिड्स स्तर के सामान्य रहने के बावजूद कोलेस्ट्रॉल का यह जमाव हो सकता है और इसकी वजह से हार्ट अटैक या हृदय संबंधी अन्य समस्याओं की आशंका कई गुना बढ़ सकती है।

लिपिड प्रोफाइल की जांच ज़रूर करवाएं

सामान्यतौर पर ज़ेन्थेलेज्मा कोई तकलीफ नहीं देता। आंखों की किसी तकलीफ से इसका कोई संबंध नहीं होता और ये गठान बाकी कोई परेशानी भी नहीं पहुंचाती लेकिन कॉलेस्ट्रॉल और हृदय के संदर्भ में यह चेतावनी हो सकती है. इसलिए जरूरी है कि इसके दिखाई देने पर लिपिड्स प्रोफाइल या कॉलेस्ट्रॉल की जांच करवाई जाए।

कॉलेस्ट्रॉल से जुड़ी समस्याओं पर आधारित ये पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे शेयर करें। कमेंट सेक्शन में अपने विचार लिखें और पोस्ट को रेटिंग देना न भूलें।

कॉलेस्ट्रॉल से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए हमारे हेल्थ A-Z और सेल्फ केयर सेक्शन को ज़रूर देखें। इसी तरह की जानकारी के लिए वामा टुडे के हेल्थ सेक्शन को भी ज़रूर विज़िट करें।