हाइजीन की ये आदतें कोरोना के बाद भी आयेंगी काम

by | Jul 15, 2020 | Corona, Self Care | 0 comments

ये तो नहीं कह सकते कि कोरोना कब खत्म होगा, लेकिन होगा जरूर। समस्या कोई भी क्यों न हो खत्म होकर रहती है। पर बात ये है कि अभी तो हम सबको बहुत सतर्क रहना है। हाइजीन को तो अपने जीवन का महत्वपूर्ण अंग बनाना है। भले ही कोरोना खत्म हो जाये लेकिन कुछ आदतें ताउम्र हमारे काम आयेंगी। अगर ये आदतें पहले से ही हमारे जीवन में होती तो आज शायद ये स्थिति नहीं होती। लेकिन कितनी अजीब बात है कि मुसीबत आने पर ही हम सजग होते हैं। जब हम बीमार होते हैं तो हेल्दी फूड की ओर भागते हैं। एक्सरसाइज़ करने लग जाते हैं। मानसिक शांति के लिए मैडिटेशन करते हैं। अब आप देखिये कोरोना के बाद किस तरह हैंड वॉश की आदत हमने अपना ली है। तो सब काम अब आपके जीवन का आवश्यक हिस्सा बन जाने चाहिए। आइये ज़रा विस्तार से इन्हे समझें।

हाइजीन का न होना हमेशा से खतरनाक है

अगर हम भारत की बात करें तो यहां हाइजीन की बात तो हवा में होती है। हालांकि ऐसा अभी के दिनों में तो देखा जा रहा है। लेकिन हाइजीन की कमी केवल नुकसान ही पहुंचाती है। आपको ये जानकर आश्चर्य होगा कि आप ज़्यादातर बैक्टेरियल और वायरल बीमारियों का शिकार हाइजीन की कमी के कारण ही होते हैं। वैसे विदेशों में तो हाइजीन का बहुत ध्यान रखा जाता है। लेकिन फिर भी वहां कोरोना जैसी खतरनाक बीमारी तेज़ी से फ़ैल रही है। स्थिति कुछ भी हो आपको हाइजीन की आदत नहीं छोड़ना है।

घर के अंदर और बाहर रखना है हाइजीन को

एक दिन जब सब सामान्य होगा मतलब जब कोरोना चला जायेगा तब भी हाइजीन रखना ज़रुरी होगा। क्योंकि अच्छे स्वास्थ्य की हर कड़ी हाइजीन से जुड़ी हुई है। आप चाहें अपने घर में रहें या बाहर हाइजीन तो हमेशा आपके साथ रहेगा। अगर नहीं रहा तो समस्या भी आएगी। बात केवल आदत की है जो आपको हमेशा ध्यान रखना है। बच्चों से लेकर बड़ों तक हाइजीन की हैबिट आपके परिवार को हर बीमारी से बचाकर रखेगी।

हेल्दी फूड स्वस्थ जीवन का आधार है

किसे अच्छा नहीं लगता बाज़ार का चटपटा खाना। लेकिन अभी तो आपकी ज़ुबान को तालों में रखना पड़ रहा होगा। स्वाद में भले कितना अच्छा लगे, लेकिन स्वास्थ्य के लिए तो हेल्दी फूड ही सबसे अच्छा होता है। हेल्दी फ़ूड आपको न सिर्फ स्वस्थ रखता है बल्कि ये आपके विचारों को भी सकारात्मक बनाता है। वैसे ये आपका सोचना है कि हेल्दी फ़ूड स्वादहीन होता है। सात्विक भोजन भी सुरुचि से बनाया जाये तो बहुत स्वादिष्ट लगता है।

हैंड वॉश की आदत जैसे हर रोज़ लेते हैं सांस

जीने के लिए सांसें कितनी ज़रूरी होती हैं ये तो आप जानते ही हैं। अब सांसों की ही तरह हैंड वॉश भी आपके जीवन का एक सच बन चुका है। जी हां हैंड वॉश आपको कितनी ही बीमारियों से बचाता है। कोरोना की बीमारी भी फैलने का बड़ा कारण हैंड वॉश की आदत का न होना है। इसी वजह से ये बीमारी लाखों लोगों तक फैली। इसलिए आपको न केवल अभी बल्कि आने वाले समय में भी हैंड वॉश की आदत बनाकर रखना है।

कोई विकल्प नहीं है एक्सरसाइज़ का

हर दिन एक्सरसाइज़ की आदत कितने लोगों के जीवन में शामिल होती है। लेकिन जब किसी बीमारी का अंदेशा रहता है तो आप डर की वजह से एक्सरसाइज़ करने लग जाते हैं। कितना अच्छा हो कि आप बिना किसी बीमारी के ख़ुशी-ख़ुशी एक्सरसाइज़ करें। आने वाले समय में वही लोग अधिक सक्रियता से जीवन को जी सकेंगे जो एक्सरसाइज़ करते हैं। या जिन्होंने इसे अपने जीवन का अहम हिस्सा बना लिया है।

मैडिटेशन हमेशा तनाव रहित रखेगा आपको

जी हां मैडिटेशन का अर्थ आप मानसिक रूप से स्वस्थ हैं प्रफुल्लित हैं। केवल व्यायाम ही नहीं बल्कि नियमित रूप से किया मैडिटेशन भी बहुत फायदा पहुंचाता है। जो लोग मानसिक रूप से प्रबल होते हैं वो हर परिस्थिति का सामना अच्छे से कर पाते हैं। आगे भी न जाने कितनी परेशानियां आ सकती हैं। इसलिए मैडिटेशन अपनाना बहुत ज़रुरी है।

तो आप ही इन सभी बातों को अपने जीवन में जितनी जल्दी शामिल कर लेंगे अच्छा होगा।

हाइजीन पर आधारित ये पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे शेयर करें। कमेंट सेक्शन में अपने विचार लिखें और पोस्ट को रेटिंग देना न भूलें।

कोरोना से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए हमारे हेल्थ A-Z और सेल्फ केयर सेक्शन को भी ज़रूर देखें। इसी तरह की अन्य जानकारी के लिए वामा टुडे के हेल्थ सेक्शन को ज़रूर विज़िट करें।