खाली पेट लहसुन दिखाता है ये कमाल

by | Jan 11, 2020 | Diet & Fitness, Healthy Food | 0 comments

हेल्दी फ़ूड की लिस्ट में कई बार ऐसी चीज़ें शामिल हो जाती हैं जो आमतौर पर इस्तेमाल नहीं होती। कहने का मतलब है उन चीज़ों को आप खाते तो हैं लेकिन अलग रूप में। आप सोचने लगे शायद, अरे मत लगाइए दिमाग पर इतना ज़ोर। रुकिए थोड़ा, हम आपको बताते हैं कि लहसुन आपके लिए कितना फायदेमंद हो सकता है। अगर एम्प्टी स्टमक लहसुन लेते हैं तो ये आश्चर्यजनक परिणाम देता है। अब ये आश्चर्यजनक रिजल्ट क्या हो सकते हैं आप भी जानना चाहेंगे? आपको बता दें कि खाली पेट रोज़ाना लहसुन खाने से आप स्ट्रोक से भी बच सकते हैं। इसके अलावा वायरल इन्फेक्शन भी आपके पास नहीं फटकता है। लहसुन हाई बीपी कंट्रोल भी करता है। साथ ही ये इम्यून बूस्टर भी होता है।

गर्म होती है लहसुन की तासीर

आपको बता दें कि लहसुन की तासीर गर्म होती है। इसी वजह से ठण्ड के मौसम में इसका सेवन लाभप्रद होता है। यदि आप लहसुन का सेवन करते हैं तो शरीर में गर्माहट बनी रहती है। इसलिए सर्दियों में लहसुन की मांग भी बढ़ जाती है। इसलिए जो लोग सर्दी-खांसी से ग्रस्त होते हैं, लहसुन उन्हें राहत देता है।

खाने का स्वाद बढ़ाता है लहसुन

ये तो आप जानते ही हैं कि लहसुन खाने में ज़बरदस्त ज़ायका लाता है। क्योंकि इसका फ्लेवर किसी भी डिश के स्वाद को और बढ़ा देता है। ठंड के मौसम में इसका प्रयोग और भी बढ़ जाता है। खासकर सब्जियों का मसाला इससे और भी मज़ेदार बन जाता है।

हाई बीपी कंट्रोल भी होता है लहसुन से

कुछ लोगों में रक्तचाप की अधिकता भी एक समस्या है। तो आपको बता दें हाई बीपी कंट्रोल करने में लहसुन बड़ी भूमिका निभाता है। अगर आप एम्प्टी स्टमक लहसुन लेते हैं तो इससे हाई बीपी कंट्रोल होता है। जिन लोगों को किसी बीमारी के कारण उच्चरक्त चाप की समस्या होती है, लहसुन उसे भी दूर कर देता है। लेकिन बाद हाई बीपी कंट्रोल करने के लिए खाली पेट लहसुन लें।

वायरल इन्फेक्शन को भी ठीक करता है लहसुन

जी हां लहसुन से वायरल इन्फेक्शन में भी काफी राहत मिलती है। बच्चों को अक्सर वायरल इन्फेक्शन से परेशानियां हो जाया करती हैं। लहसुन का सेवन करने से वायरल इन्फेक्शन से जुड़ी सभी परेशानियां दूर होती जाती हैं। इसलिए खाली पेट लहसुन का सेवन ज़रूर कीजिये।

स्ट्रोक तक से रक्षा करता है लहसुन

आपको बता दें कि लहसुन खाने से आप स्ट्रोक के ख़तरे से भी बचे रह सकते हैं। लहसुन में एंजोन नामक तत्व पाया जाता है। इससे क्लॉटिंग नहीं होती है। ऐसे में ब्लड का फ्लो भी सुचारू चलता है। इसलिए स्ट्रोक का खतरा भी कम हो जाता है। जो लोग नियमति रूप से खाली पेट लहसुन लेते हैं उन्हें स्ट्रोक का जोखिम 85% कम हो जाता है। इसलिए हर स्वस्थ व्यक्ति को खाली पेट लहसुन ज़रूर खाना चाहिए।

इम्यून बूस्टर होता है लहसुन

गार्लिक मतलब लहसुन के फ़ायदे यहीं पर खत्म नहीं होते हैं। आपको बता दें कि लहसुन इम्यून बूस्टर भी होता है। रोज़ इसे खाने से आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है। ये इम्यून बूस्टर आपके शरीर में रोगों को प्रवेश नहीं देता है। इसलिए अपने आहार में ऐसे तमाम इम्यून बूस्टर चीज़ों को शामिल करना ज़रूरी है।

हार्ट अटैक के जोखिम को भी कम करता है लहसुन

एक और काम की बात है आपके लिए, नहीं काम की नहीं बल्कि हम तो इसे जान की बात कहेंगे। जी हां आपकी जान को बचाने के लिए लहसुन से उपयुक्त और कोई चीज़ नहीं है। जी हां लहसुन हार्ट अटैक के ख़तरे को भी बहुत कम कर देता है। इसके सेवन से दिल की नसों की सभी तरह की रुकावटें दूर हो जाती हैं। इससे आपके हृदय तक रक्त का संचार अच्छे से हो पाता है। इसलिए कभी भी हार्ट अटैक की संभावना नहीं बनती है। तो आप भी अपनी दिनचर्या में आप लहसुन का इस्तेमाल ज़रूर करें।

लहसुन के सेहतमंद फायदों पर आधारित ये पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे शेयर करें। कमेंट सेक्शन में अपने विचार लिखें और पोस्ट को रेटिंग देना न भूलें।

हेल्दी फ़ूड से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए हमारे डाइट एंड फिटनेस सेक्शन को ज़रूर देखें। इसी तरह की अन्य जानकारी के लिए वामा टुडे के हेल्थ सेक्शन को भी ज़रूर विज़िट करें।