शोल्डर पेन और फ्लेक्सिबिलिटी में ये एक्सरसाइज़ होगी कारगर

by | Jul 17, 2020 | Diet & Fitness, Yoga | 0 comments

योगा का नियमित अभ्यास आपके जीवन को पूरी तरह बदलकर रख देता है। इससे न सिर्फ आंतरिक रूप से आप निरोगी रहते हैं बल्कि मानसिक मज़बूती भी बढ़ती है। आप लम्बे समय तक खुद को निरोगी रख सकते हैं अगर योगा आपके जीवन का हिस्सा है तो। वैसे तो कोई भी एक्सरसाइज़ आप करें आपको उसका लाभ मिलता ही है। लेकिन योगा तो आपको फ्लेक्सिबिलिटी और ताकत दोनों देता है। आप अपने पेट, कमर, पैर आदि हिस्सों को कम करने के लिए आप अनेक तरह की एक्सरसाइज़ करते हैं। लेकिन क्या कभी आपने अपने कन्धों के बारे में सोचा है? शोल्डर पेन आजकल युवाओं में एक बड़ी समस्या के रूप में सामने आया है। इसके बहुत-से कारण हैं, लेकिन सबसे बड़ा कारण तो हमारी खराब लाइफस्टाइल ही है। सुबह से शुरू हुई भागदौड़ रात में न जाने कब खत्म होती है। ऐसे में एक अच्छे रूटीन की बात तो बेमानी है। योगा में कुछ आसन हैं जिससे आप शोल्डर पेन से मुक्ति पा सकते हैं। जैसे भुजंगासन और धनुरासन आपके लिए बहुत फायदेमंद हो सकते हैं। तो आइये इस बारे में आपको और जानकारी देते हैं।

बिलकुल वर्कआउट न करने से भी शोल्डर पेन हो सकता है

आपको बता दें कि शोल्डर पेन का एक कारण बिलकुल वर्कआउट न करना है। जब आप अपने शरीर को किसी तरह के वर्कआउट में नहीं डालते हैं तो वह स्टिफ होने लगता है। इसी वजह से उसमें दर्द और अन्य तकलीफें पैदा होने लगती हैं। खासकर आपके जोड़, जो अक्सर स्टिफनेस के कारण समस्या देते हैं। शोल्डर पेन का एक बड़ा कारण आपका बिलकुल भी एक्सरसाइज़ न करना है। अगर आपकी बॉडी फ्लेक्सिबल नहीं होगी तो उसमें परेशानियां बढ़ेंगी। इसलिए ज़रूरी है कि आप किसी न किसी तरह का वर्कआउट करते रहें।

लंबे समय तक सिस्टम पर काम करने से भी हो सकता है शोल्डर पेन

ऑफिस में बैठकर या आजकल जिस तरह वर्क फ्रॉम होम हो रहा है, शोल्डर पेन होना सामान्य बात है। फिर न तो हमारी डाइट सही होती है और न ही कोई एक्सरसाइज़। कुछ लोगों को इसी कारण फ्रोज़न शोल्डर की समस्या भी हो जाती है। दरअसल सिस्टम में इतनी देर तक बैठे रहने से आपका पोस्चर खराब हो जाता है। इसलिए थोड़ा समय निकालकर आप योगा या कोई भी वर्कआउट करें। काम के बीच में भी थोड़ा-थोड़ा ब्रेक लेते रहें। खासकर गर्दन, कमर, पैर और हाथों की एक्सरसाइज़ बहुत ज़रूरी है।

एक्सरसाइज़ के लिए किसी का मार्गदर्शन लें

देखा जाता है कि लोग अपने मन से ही एक्सरसाइज़ शुरू कर देते हैं। इससे आपको नुकसान हो सकता है। जैसे आपको शोल्डर पेन हुआ और आपने मन से कोई गलत एक्सरसाइज़ कर ली। इसका परिणाम गलत रूप में सामने आ सकता है। हो सकता है आपकी तकलीफ और बढ़ जाये। इसलिए किसी भी एक्सरसाइज़ को करने से पहले डॉक्टर और किसी विशेषज्ञ की सलाह ज़रूर लें।

भुजंगासन पीठ दर्द के अलावा शोल्डर पेन को भी दूर करता है

सब भुजंगासन के बारे में तो जानते ही हैं। जी हां योगा के सबसे असरकारक आसनों में भुजंगासन बहुत लोकप्रिय है। पेट के बल किया जाने वाला भुजंगासन शरीर को लचीला बनाने के साथ शोल्डर पेन के अलावा अन्य दर्द भी दूर करता है। इसके अतिरिक्त पेट को कम करने और पीठ के दर्द को ठीक करने में भी भुजंगासन मददगार होता है। आप भी 2-3 बार इस आसन का अभ्यास करें।

धनुरासन बढ़ाता है हाथ-पैरों में ताकत

जी हां धनुरासन भी आपके शरीर को लचीला बनाने में बहुत मदद करता है। इससे आपके हाथ और पैरों की अच्छी स्ट्रेचिंग होती है। धनुरासन भी पेट के बल किया जाता है। धनुरासन से पीठ का दर्द और शोल्डर पेन भी दूर होता है। आपको रोज़ाना दो-तीन बार धनुरासन का अभ्यास करना चाहिए।

तो आप भी रोज़ योगा करें और अपने शरीर को स्वस्थ रखें।

शोल्डर पेन को दूर करने के तरीके पर आधारित ये पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे शेयर करें। कमेंट सेक्शन में अपने विचार लिखें और पोस्ट को रेटिंग देना न भूलें।

योगा से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए हमारे डाइट एंड फिटनेस सेक्शन को देखें। इसी तरह की अन्य जानकारी के लिए वामा टुडे के फिटनेस सेक्शन को विज़िट करना न भूलें।