योगा पोज़ेज़ जो बनाएंगे आपकी किडनी को हेल्दी

by | Jun 23, 2020 | Diet & Fitness, Yoga | 0 comments

योगा पूरे शरीर की व्यवस्था को सुचारू बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। खासकर शरीर को मज़बूती देने के साथ ही यह रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में भी काफी सहायक होता है। किडनियों यानी गुर्दों के संदर्भ में भी योगासनों का काफी महत्व है। आप सोचेंगे कि किडनी के साथ योग का क्या मेल? तो आपको बता देते हैं कि ऐसे अनेक योगा पोज़ेज़ हैं जो आपकी किडनी को स्वस्थ बनाए रख सकते हैं। जैसे त्रिकोण आसन और भुजंगासन। इस बारे में अधिक जानकारी दे रही हैं भोपाल की प्रसिद्ध योग एक्सपर्ट और डायटीशियन डॉक्टर शैलजा त्रिवेदी।

प्राचीन समय से प्रचलित हैं योगा पोज़ेज़

अगर आप सोचते हैं कि योगा पोज़ेज़ आज या कल आये विधियां हैं तो आप गलत हैं। योग पद्धति बहुत प्राचीन है और विशेषज्ञ इसके स्वास्थ्य से जुड़े सकारात्मक प्रभावों के उस समय से होने की बात करते हैं, जब एलोपैथी नहीं थी। योग पोज़ेज़ न केवल शरीर को स्वस्थ बनाए रखकर रोगों से बचाव करते हैं बल्कि रोग होने पर इलाज के साथ एक सहभागी के रूप में रोग से उबरने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। इस तरह यह दो तरह से स्वास्थ्य को सुनिश्चित करता है।

योगा पोज़ेज़ के अभ्यास में ध्यान रखें ये बातें

विभिन्न योगा पोज़ेज़ जब सही तरह से और सही वातावरण में किये जाएं तो आपको कुछ बातें ध्यान रखना चाहिए। साथ ही यदि किडनी से संबंधित कोई दवाई या चिकित्सा आप ले रहे हैं तो उसे कंटीन्यू रखने के संबंध में भी पूरी जानकारी लें, इलाज को अधूरा न छोड़ें। यदि आपको योग से लाभ हो रहा है तो उसे हमेशा के लिए अपना लें, कुछ दिन करके छोड़ें नहीं। लेकिन सबसे ज़रुरी है कि किसी कुशल प्रशिक्षक की देख-रेख में ही आप योगा करें। योग को लोग फिटनेस के अलावा रोग निवारण के साधन के तौर पर भी देखते और अपनाते हैं। यहां यह ध्यान रखने लायक बात है कि कोई भी व्यायाम बिना किसी सही प्रशिक्षक या सलाह के सही परिणाम नहीं दे सकता। योग पर भी यही बात लागू होती है। इसके अलावा योग के परिणाम मिलने में समय भी लगता है यह कोई जादू नहीं है। इसलिए धैर्य से काम लें और योग को नियमित दिनचर्या तथा पोषक भोजन के कॉम्बिनेशन के साथ अपनाएं।

किडनी के लिए योग

कुछ योगा पोज़ेज़ किडनी के काम करने की प्रक्रिया को सुचारू बनाने के साथ ही किडनी को स्वस्थ बनाए रखने में भी मददगार हो सकते हैं। लेकिन इन्हें करने से पहले किसी प्रशिक्षित व्यक्ति से राय और मार्गदर्शन लेना आवश्यक है। ये बात हम आपको बार-बार कहेंगे। ज़रुरी नहीं है कि किडनी में ही कोई समस्या हो तभी योगा किया जाये, स्वस्थ रखकर भी आप अपनी किडनी को लंबे समय तक बढ़िया रखने के लिए योग कर सकते हैं। जैसे अर्धमतस्येंद्र आसन (सिटिंग हाफ स्पाइनल ट्विस्ट) यह किडनी और लिवर की फंक्शनिंग को प्रेरित करता है। साथ ही रोगप्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता है। इसका अभ्यास आप रोज़ कर सकते हैं। नौकासन (बोट पोज़) पेट के अंदरूनी भाग को मजबूती देने वाला आसन पाचन क्षमता को भी मजबूत बनाता है। सेतुबंधासन (ब्रिज पोज़) यह भी किडनियों को प्रेरित करता है और हाई ब्लड प्रेशर को संतुलन में लाने में मदद करता है।

अनेक तरह से लाभकारी है भुजंगासन (कोबरा पोज़)

पेट के सभी अंगों के लिए लाभदाई भुजंगासन शरीर को स्ट्रेस और फटिग से उबारता है। भुजंगासन किडनियों को स्ट्रेच करता है और ब्लॉकेज को हटाने में मदद करता है। किडनी की पथरी के मामले में इसे बहुत फायदेमंद माना जाता है। यह इम्युनिटी को भी बढ़ाता है। इसलिए आपको भुजंगासन का अभ्यास करना चाहिए।

त्रिकोण आसन भी है लाभदायक

खासतौर पर किडनी के संदर्भ में कटिचक्र आसन, त्रिकोण आसन, जानु परिवृत्त आसन, अनुलोम-विलोम की क्रिया, अर्धचंद्रासन आदि बहुत लाभदाई साबित होते हैं। ये आसन शरीर की अशुद्धियों को दूर करते हैं तथा पेट से अतिरिक्त चर्बी घटाते हैं। त्रिकोण आसन न केवल किडनी को अच्छा रखता है बल्कि वज़न कम करने में भी मदद करता है। कमर कम करने के लिए भी त्रिकोण आसन फायदेमंद होता है। यदि कोई किडनी संबंधी किसी समस्या से पीड़ित है तो योग करते समय उसे यह बात प्रशिक्षक को बतानी चाहिए। साथ ही झटके लगने वाले, किडनी पर प्रेशर डालने वाले आसन करने से बचना चाहिए। कपालभांति करने से भी इस स्थिति में दूर रहना चाहिए। कोशिश करें कि शरीर पर प्रेशर न डालें, अपनी क्षमता के अनुसार योग क्रियाएं करें।

तो ये सभी आसन आप करें और अपनी किडनी को स्वस्थ रखें।

किडनी को सेहतमंद रखने वाले आसनों पर आधारित ये पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे शेयर करें। कमेंट सेक्शन में अपने विचार लिखें और पोस्ट को रेटिंग देना न भूलें।

योगा से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए हमारे डाइट एंड फिटनेस सेक्शन को देखें। इसी तरह की अन्य जानकारी के लिए वामा टुडे के हेल्थ सेक्शन को भी विज़िट ज़रुर करें।

Dr. Shailja trivedi

Dr. Shailja trivedi

Yoga Expert & Dietitian