ये आई एक्सरसाइज़ सुरक्षित रखेंगी आपकी आंखें

by | Jun 29, 2020 | Eye Problem, Self Care | 0 comments

बच्चों को लेकर बड़े तक इन दिनों आई प्रॉब्लम से परेशान हैं। कारण स्पष्ट है, ज़्यादातर समय मोबाइल या कंप्यूटर स्क्रीन पर गुज़ारना। कोरोना के कारण जो लॉकडाउन हुआ उसमें यही तो सबसे बड़ी समस्या रही। अब लोग करें तो क्या करें? ये बात भी सही है कि समय बिताने के लिए कुछ तो चाहिए। पर जब इसके रिजल्ट्स सामने आये तो फिर तकलीफ ही नज़र आई। बात अब उन लोगों की जो न चाहते हुए भी स्क्रीन पर लंबा वक्त गुज़ारते हैं। इससे आंखों में दर्द, जलन और इन्फेक्शन जैसी समस्या हो जाती है। साथ ही आपकी आंखें थकी और बेजान हो जाती हैं। तो इसके लिए सबसे अच्छा उपाय है आई एक्सरसाइज़ करना। जी हां आंखों की कसरत करने से आपकी आंखों को काफी आराम मिलता है। साथ ही आई मसाज और आई योगा भी आंखों की हेल्थ बनाये रखते हैं। त्राटक भी एक ऐसी क्रिया है जिसमें आपकी आंखों का अच्छा व्यायाम होता है। आइये इसके बारे में हैं।

थोड़ी-थोड़ी देर में आई एक्सरसाइज़ करना है ज़रूरी

काफी देर तक एक ही डायरेक्शन में बैठकर काम करने से आंखें थक जाती हैं और उनमें इरिटेशन शुरू हो जाता है। आंखों से पानी आना और उनका लाल होना सामान्य बात हो जाती है। बड़ों के साथ बच्चों को भी ये समस्या हो सकती है। इसलिए ज़रुरी है कि आप आई एक्सरसाइज़ करें। आई एक्सरसाइज़ के कुछ बहुत आसान तरीके होते हैं। जिन्हे आपको अपने काम के बीच करते रहना चाहिए। आई एक्सरसाइज़ के बारे में हम आपको आगे इस लेख में जानकरी दे रहे हैं।

प्रकृति के सानिध्य में करें आई एक्सरसाइज़

इस प्रकृति के आप जितने करीब रहेंगे, उतने ही स्वस्थ और निरोगी रह पाएंगे। जैसे आप सुबह की गुनगुनी धूप में आंखों को हल्के से बंद करके बैठ जायें। इस दौरान आंखों को बिलकुल भी स्ट्रेस न दें। साथ ही हरी घास पर धीरे-धीरे नंगे पैर चलें। इस दौरान अपनी आंखों को हल्के-से खोलें और बंद करें। इस तरह की आई एक्सरसाइज़ आपकी आंखों को एक सुकूनदायक अनुभव देगी। इस आई एक्सरसाइज़ को बच्चे भी कर सकते हैं।

आंखों की ज्योति बढ़ती है आई योगा से

आप शायद आई योगा के बारे में तो जानते ही होंगे? जी हां आई योगा न सिर्फ आंखों की रोशनी बढ़ाता है, बल्कि उन्हें अन्य समस्याओं से भी दूर रखता है। योगा के अनेक ऐसे आसन हैं जिनमें आई एक्सरसाइज़ होती है। जैसे आंखों की पुतली को ऊपर चढ़ाना और नीचे गिराना। फिर दाएं और बाएं घुमाना। फिर आंखों को पूरी तरह फैलाना। इस तरह के आई योगा आपकी आंखों को स्वस्थ रखते हैं। तो आप भी अपने काम के बीच-बीच में इस तरह से आई योगा करते रहें।

योगा के अलावा आप आई मसाज भी करें

अपनी आंखों की हल्के हाथों से मसाज करना भी आपके लिए फायदेमंद होगा। आई मसाज आपको बहुत आराम देगी और आपकी आंखों में हल्कापन लाएगी। कहीं भी लेटकर आप आई मसाज कीजिये और कुछ देर ऐसे ही लेटे रहिये। आई मसाज से नसों में ब्लड का सर्कुलेशन बढ़ता है और आपकी आंखें अच्छी बनी रहती हैं।

त्राटक भी है एक अच्छा व्यायाम

हम आपको त्राटक के बारे में जानकारी देते हैं। मुख्यरूप से त्राटक एक कॉन्सेंट्रेशन बढ़ाने वाली क्रिया है। जिसमें किसी एक बिंदू पर बिना पलकें झपकाए देखना होता है। आपको बता दें कि त्राटक भी योग क्रिया का ही एक प्रकार है। लेकिन त्राटक करने से पहले आप किसी विशेषज्ञ से इसके बारे में पूरी जानकारी ले लें। नहीं तो संभव है आपको नुकसान हो जाये।

तो आप भी इन आई एक्सरसाइज़ से अपनी आंखों को सुरक्षित रखें।

आंखों की देखभाल से जुड़ी ये जानकारी आपको समझ में आई हो तो इसे शेयर करें। कमेंट सेक्शन में अपने विचार लिखें और पोस्ट को कमेंट करना न भूलें।

आई प्रॉब्लम से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए हमारे हेल्थ A-Z और सेल्फ केयर सेक्शन को देखें। इसी तरह की अन्य जानकारी के लिए वामा टुडे के हेल्थ सेक्शन को ज़रुर विज़िट करें।