हेल्दी लंग्ज़ पाने के लिए कीजिये ये उपाय

by | Jun 27, 2020 | Lung Diseases, Self Care | 0 comments

ब्रीदिंग का संबंध सीधे रूप से हमारे लंग्ज़ हेल्थ के साथ जुड़ा हुआ है। इसमें किसी भी तरह की खराबी आपको श्वसन संबंधी परेशानियां दे सकती है। अभी फ़िलहाल कोरोना का जो दौर चल रहा है वह भी हमारे रेस्पिरेटरी सिस्टम से ही जुड़ा हुआ है। जी हां कोरोना वायरस भी हमारे श्वसन तंत्र पर आक्रमण करता है। यदि हमारे फेंफड़े मज़बूत और स्वस्थ हों तो इस तरह की कोई समस्या हमें नुकसान नहीं पहुंचा सकती है। लेकिन अब प्रश्न ये आता है कि ये संभव कैसे होगा? तो जान लीजिये कि लंग्ज़ को निरोगी बनाये रखना इतना कठिन भी नहीं है। डीप ब्रीथ हमेशा से फेंफड़ों के लिए अच्छी मानी जाती है। उसी तरह फेंफड़ों को लचीला और स्वस्थ बनाने के लिए प्राणायाम भी एक अच्छा उपाय हो सकता है। क्या आप जानते हैं कि व्हिसिल मतलब सीटी बजाना भी एक अच्छा व्यायाम है। चलिए इस बारे में आपको और जानकारी दी जाये।

हेल्दी लंग्ज़ होंगे तो नहीं होगी कोई रेस्पिरेटरी प्रॉब्लम

ये बात समझना उतना ही आसान है जितना कि सांस लेना। लेकिन एक बात आपको बता दें कि सबके लिए ये इतना आसान नहीं होता है। कारण उनके हेल्दी लंग्ज़ का न होना। देखा जाये तो आम इंसान ठीक से सांस नहीं लेता है। इसी वजह से उन्हें भरपूर ऑक्सीजन नहीं मिल पाती है। यही कारण है कि आपको हेल्दी लंग्ज़ नहीं मिल पाते हैं। इसलिए कहा जाता है कि खुलकर सांस लीजिये।

ज़रुरी कि हेल्दी लंग्ज़ के लिए आप फ्रेश एयर लें

ताज़ी, खुली हवा में सांस लेने से न सिर्फ तन बल्कि मन भी प्रफुल्लित हो जाता है। इसलिए आपको रोज़ सुबह खुली हवा में सांस लेना चाहिए। इससे आपके फेंफड़ों को पूरी तरह फैलने का अवसर मिलता है। उनमें ठीक तरह से ऑक्सीजन जाती है और आपको हेल्दी लंग्ज़ मिल पाते हैं। जब शरीर में ठीक तरह से शुद्ध हवा का प्रसार होता है तो आपको इसके अनेक लाभ मिलते हैं।

हर दिन डीप ब्रीथ लें

कभी ऐसा हुआ है कि बहुत गुस्सा आ रहा हो या आप उदास हैं और डीप ब्रीथ करते ही एकदम से सब ठीक हो जाता है। आप अच्छा महसूस करते हैं और लगातार ऐसा करने से आपकी सारी टेंशन दूर हो जाती है। डीप ब्रीथ आपके शरीर में पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन का नियमन करती है। इससे आप अच्छा महसूस करते हैं और फ्रेश हो जाते हैं। कोशिश करें कि दिन में जब भी आपको समय मिले आप डीप ब्रीथ लें। इससे आप फेंफड़ों को मज़बूत बना सकेंगे।

श्वसन रोगों से बचने का सबसे अच्छा तरीका है प्राणायाम

इस बारे में जितना सुनेंगे उतना ही आपका विश्वास प्राणायाम पर बढ़ता जायेगा। प्राणायाम मतलब प्राणों का आयाम, जो आपकी जीवनी शक्ति का परिचायक है। यदि व्यक्ति हर दिन प्राणायाम करे तो उसे कभी कोई श्वसन रोग हो ही न। लेकिन हम हर समय वक्त की दुहाई देते रहते हैं। अब यदि सांसों के लिए भी समय नहीं निकाल सके तो सांसें हमारे लिए भला क्यों ठहरने लगीं? इसलिए बहाने मत बनाइये और आज से ही प्रणायाम शुरू कीजिये।

व्हिसिल करना भी लंग्ज़ के लिए अच्छा होता है

सीटी बजाना आपको आनंद देता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि व्हिसिल करने से आपको हेल्दी लंग्ज़ भी मिलते हैं। जी हां व्हिसिल लंग्ज़ के लिए एक अच्छी एक्सरसाइज़ है। जब आप व्हिसिल करते हैं तो इससे आपके फेंफड़े पूरी तरह संकुचित होते हैं और सिकुड़ते हैं। इसलिए आपको अगर व्हिसिल करने का शौक है तो आप निश्चिंत होकर सीटी बजा सकते हैं।

तो इन आसान तरीकों से आप भी अपने लंग्ज़ को सुरक्षित और मज़बूत रख सकते हैं।

लंग्ज़ हेल्थ से जुड़ी ये जानकारी आपको पसंद आई हो तो आप इसे शेयर करें। कमेंट सेक्शन में अपने विचार लिखें और पोस्ट को रेटिंग देना न भूलें।

लंग्ज़ और ब्रीथ से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए हमारे हेल्थ A-Z और सेल्फ केयर सेक्शन को ज़रुर देखें। इसी तरह की अन्य किसी जानकारी के लिए वामा टुडे के हेल्थ सेक्शन को ज़रुर विज़िट करें।