कोरोना के बीच बढ़ रहा है डिप्रेशन तो करें ये उपाय

by | Jun 30, 2020 | Mental Disorder, Self Care | 0 comments

मेंटल डिसऑर्डर एक विशेष परिस्थिति है। कहने की ज़रुरत नहीं है कि आज का इंसान किस कदर डिप्रेशन में जी रहा है। सबको यही लगता है कि कब सब कुछ ठीक होगा? कब हम कोरोना से मुक्ति पा सकेंगे? वैसे ही जीवन में परेशानियां कुछ कम नहीं थीं। लेकिन अभी हमारे सामने जो परेशानी है उसका समाधान दुनिया में हर इंसान चाहता है। कोरोना का डर लोगों में इस कदर हावी है कि वह मन में अनेक तरह के वहम पाले बैठे हैं। आपको ये जानकर आश्चर्य होगा कि फ़िलहाल दुनिया की आबादी का एक बड़ा हिस्सा तनाव का शिकार हो चुका है। भय और तनाव का ये समय अनेक लोगों को हाइपरटेंशन, दिल की बीमारियों और हाई बीपी का शिकार बना रहा है। इस बीच हम आपको राहत की एक खबर ये देना चाहते हैं कि हमारे देश में इस बीमारी का रिकवरी रेट तेज़ी से बढ़ रहा है। इसका अर्थ है कि ठीक होने वाले लोगों की संख्या में इज़ाफ़ा हुआ है। ये बीमारी कब जाएगी ये कहना तो मुश्किल है। लेकिन योगा और अन्य तरीकों से आप इस दौरान होने वाले तनाव को कम ज़रुर कर सकते हैं। इसके अलावा बुक रीडिंग और मनोरंजन के अन्य साधन आपको एक खुशनुमा माहौल देते हैं। चलिए आपको इस बारे में और जानकारी दी जाये।

लगातार सोचने से बढ़ता है डिप्रेशन

ये माना कि अभी समय सामान्य नहीं है। ऐसे में हर इंसान अपनी और अपनों की सुरक्षा के लिए चिंतित रहता है। लगातार सोचते रहने से मन में और नकारात्मक विचार आते हैं। इस तरह डिप्रेशन की एक स्थिति तैयार होती जाती है। फिर जब आप डिप्रेशन की दशा में लंबे समय तक बने रहते हैं तो आपको स्वास्थ्य सम्बन्धी परेशानियां भी होने लगती हैं। इसलिए ज़रुरी है कि आप अपने आपको व्यस्त रखें। इससे डिप्रेशन में जाने से आप बच सकते हैं। फालतू की बातें सोचने से अच्छा है कुछ अच्छा और क्रिएटिव किया जाये।

परिवार के साथ रहें डिप्रेशन से बचें

जब परिवार का साथ होता है तो हर मुश्किल आसान लगती है। हां इसका एक दूसरा पहलू ये भी है कि साथ रहने से मुसीबतें भी बढ़ती हैं। जैसे छोटी बातों पर तकरार या कोई झड़प। लेकिन इससे भी प्यार बढ़ता ही है। इसलिए आप अकेले न रहें। अपने परिवार के साथ जितना संभव हो समय गुज़ारें। घर के बुज़ुर्गों के साथ उनकी पुरानी बातों को याद करें, इससे उनका मन भी बहलेगा और आपको भी अच्छा लगेगा। परिवार के साथ मिलकर अपने घर को अच्छा लुक दें और कुछ बदलाव करते रहें। आपके घर में बच्चे भी होंगे। तो आप उनके साथ भी समय बिताएं। इससे आपका ध्यान दूसरी बुरी बातों की ओर नहीं जाएगा। भविष्य को लेकर भी चिंता न करें। सबका साथ होता है तो हर चीज़ मुमकिन हो जाती है।

कोरोना तभी करेगा हमला जब रहेंगे लापरवाह

आपको बता दें कि कोरोना संक्रमण आप पर ऐसे ही हावी नहीं होता। जब आप सभी सावधानियों का ध्यान रखेंगे और सतर्कता बनाये रखेंगे तो कोरोना आपके पास फटकेगा भी नहीं। इसके अलावा आप बताये गए सभी नियमों का पालन करें। जैसे हैंड हाइजीन और मास्क का उपयोग बाहर निकलने पर अवश्य करें। घर पर भी बार-बार हाथ धोते रहें। अपनी इम्युनिटी बढ़ाने के लिए आवश्यक चीजों का प्रयोग करें। एक स्वस्थ जीवशैली को जीना आरम्भ करें। इस तरह आप कोरोना से बचे रह सकते हैं।

योगा आपको देगा मानसिक शांति

घर पर रहते हुए आपको योगा की प्रैक्टिस करना चाहिए। इससे आप शारीरिक रूप से स्वस्थ रहते हैं। योगा आपको आंतरिक शांति देता है, जिससे आप तनाव से दूर रह पाते हैं। योगा में ऐसे अनेक आसन हैं जो आपको डिप्रेशन से दूर रखते हैं। योगा स्वास्थ्य का एक ऐसा माध्यम है जो आपमें स्फूर्ति का संचार करता है। इससे आप नए कामों के लिए प्रेरित रहते हैं। जब आपमें काम के लिए लगन बनी रहेगी तो आपको कोई तनाव या डिप्रेशन हो नहीं सकता। सबसे अच्छी बात ये है कि योगा हर उम्र में किया जा सकता है।

बुक रीडिंग आपको नई जानकारियों से रूबरू करवाएगी

किताबें पढ़ना भी एक अच्छी आदत है। बुक रीडिंग आपको नई जानकारियों से भर देती है। इसलिए बच्चों को शुरू से ही बुक रीडिंग की आदत डालना चाहिए। इस समय जब आप बहुत परेशान हैं और इससे बाहर निकलना चाहते हैं तो आपको बुक रीडिंग की शुरुआत करना चाहिए। इससे आपका मन बुरी बातों की ओर न जाकर अच्छी बातों में लगता है। महान लोगों के चरित्र चित्रण पढ़िए, उनकी जीवनी पढ़िए, इससे आपको परेशानियों से लड़ने का हौंसला मिलेगा।

तो आप भी हमारी इन बातों पर गौर करके देखिये, आपको डिप्रेशन से ज़रुर बचने का रास्ता मिलेगा।

मेन्टल हेल्थ पर आधारित ये पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे शेयर करें। कमेंट सेक्शन में अपने विचार लिखें और पोस्ट को रेटिंग देना न भूलें।

मेन्टल हेल्थ से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए हमारे हेल्थ A-Z से और सेल्फ केयर सेक्शन को ज़रूर देखें। इसी तरह की अन्य जानकारी के लिए वामा टुडे के हेल्थ सेक्शन को विज़िट करना न भूलें।