ऑरेंज से बढ़कर और कोई फल नहीं दे सकता बढ़िया मेमोरी

by | Aug 8, 2020 | Mental Disorder, Self Care | 0 comments

आजकल मेन्टल डिसऑर्डर के रूप में अनेक परेशानियां सामने आ रही हैं। इसका संबंध किसी उम्र से नहीं रहा। बल्कि हर उम्र इनका शिकार हो रहा है। अब जैसे मेमोरी से जुड़ी समस्या को ही ले लीजिये। पहले यदि कोई व्यक्ति किसी बात को भूल जाता था तो उसे बुढ़ापे का असर कहकर टाल दिया जाता था। लेकिन अब तो ये समस्या नौजवानों के साथ भी हो रही है। उम्र के साथ अल्ज़ाइमर और डिमेंशिया जैसी बीमारी होना सामान्य बात है। लेकिन अब चिंता की बात ये है कि कम उम्र के लोगों पर भी दिमागी बीमारियों का खतरा बढ़ता जा रहा है। ऐसे में आप भी सोचते होंगे कि ऐसा क्या किया जाये जिससे बुढ़ापे में भी आपकी मेमोरी अच्छी बनी रहे और आपका मानसिक स्वास्थ्य भी अच्छा रहे। तो हम कहेंगे कि एक ऐसा फ्रूट है जो आपकी मदद कर सकता है। जी हां ऑरेंज मतलब संतरा आपको लंबे समय तक अच्छी याददाश्त दे सकता है। संतरे में साइट्रिक एसिड और फाइबर होते हैं। ये पोषक तत्व न केवल आपके मानसिक स्वास्थ्य को अच्छा रखते हैं बल्कि सम्पूर्ण शरीर को फायदा पहुंचाते हैं। लो कैलोरी होने से इसका सेवन हर कोई कर सकता है। संतरा विटामिन सी से युक्त होता है, जिससे आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है। आइये इससे जुड़ी कुछ और बातों को आप तक पहुंचाया जाये।

हमारी लाइफस्टाइल में बढ़ती चिंताएं भी प्रभावित करती हैं मेमोरी को

आपकी मेमोरी का समय के साथ कम होना कोई बड़ी बात नहीं। लेकिन कम उम्र में मेमोरी लॉस की वजह हमारे आस-पास ही मौजूद होते हैं। जैसे नौकरी के कारण होने वाला तनाव या बेतरतीब जीवन जीने का तरीका। सबसे बड़ा कारण तो तनाव ही होता है। मेमोरी लॉस का शिकार व्यक्ति एक दिन में बीमार नहीं होता है। बल्कि लगातार तनाव में बने रहने से ये स्थिति होती है। तनाव का बुरा असर शरीर के हर भाग पर होता है। यही वजह है कि तनाव का दिमाग पर होने वाला असर मेमोरी लॉस को जन्म देता है।

दिमागी कसरत के अलावा ध्यान भी मेमोरी को दुरुस्त करता है

आपकी मेमोरी के लिए सबसे ज़रूरी है मानसिक शांति। अब इस भागती-दौड़ती ज़िंदगी में परेशानियां और समस्याएं तो एक साथी की तरह जीवन से बंध जाते हैं। दिमाग को शांति देने के लिए आप ध्यान जैसी क्रियाओं का सहारा भी ले सकते हैं। इससे न केवल आपको मानसिक रूप से संबल मिलता है, बल्कि अनेक कठिनाइयों का निदान भी हो जाता है। उसी तरह से खुद को दिमागी कसरत में व्यस्त रखना भी एक अच्छा तरीका होता है। इससे आपकी मेमोरी शार्प होती है और मानसिक स्वास्थ्य भी अच्छा रहता है।

ऑरेंज एक मिरेकल फ्रूट है

शायद आप ऑरेंज के फायदों को नहीं जानते, नहीं तो रोज़ इसका सेवन करते। चलिए कोई बात नहीं आप अब ऑरेंज का सेवन शुरू कर सकते हैं। स्वाद तो इसका मज़ेदार होता ही है, लेकिन फायदे भी कम नहीं होते हैं। जिन लोगों का ये सोचना है कि ऑरेंज तो खट्टा होता है। इससे सर्दी हो जाती है, गला खराब हो जाता है। लेकिन आपको बता दें कि कुछ विशेष परिस्थितियों को छोड़कर आप ऑरेंज का सेवन कभी भी कर सकते हैं। बल्कि हम तो ये कहेंगे कि जो व्यक्ति रोज़ संतरा खाता है, उसकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बहुत मज़बूत हो जाती है।

विटामिन सी से युक्त होता है ऑरेंज

ये तो आप जानते ही होंगे कि ऑरेंज विटामिन सी से भरा होता है। आपको बता दें कि जिन लोगों का कोरोना का इलाज चल रहा है उन्हें भी विटामिन सी का डोज़ दिया जा रहा है। इससे उनकी रिकवरी में तेज़ी देखी जा रही है। आप भी अगर एक ऑरेंज रोज़ खाएंगे तो इससे आपकी इम्युनिटी स्ट्रांग होगी। संभव है कि इससे आप कोरोना की चपेट में आने से भी बच जायें। खैर इसके लिए तो आपको सावधानी भी रखनी होगी। लेकिन संतरे का सेवन तो आप कर ही सकते हैं।

संतरे में मौजूद फाइबर पेट के लिए अच्छा होता है

आपके डाइजेशन को अच्छा बनाने के लिए संतरे का सेवन रोज़ करें। संतरे में जो फाइबर होते हैं वह आपके पाचन तंत्र को मज़बूत बनाते हैं। ये फाइबर आपके डाइजेस्टिव सिस्टम की अच्छे से सफाई करते हैं। इससे आपको कब्ज़, गैस और अन्य पेट की बीमारियों से राहत मिलती है। लेकिन हम आपको कहेंगे कि आप संतरे के रस की जगह फल को ही उपयोग करें। ये ज़्यादा फायदेमंद होगा।

लो कैलोरी होने से वेट लॉस में भी मदद करता है

ऑरेंज में लो कैलोरी होती है। इससे जो लोग अपना वज़न कम करना चाहते हैं वो भी इसका सेवन कर सकते हैं। लो कैलोरी के कारण ये फैट प्रोड्यूस नहीं करते हैं। यदि आप ऐसा आहार लेते हैं जिसमें लो कैलोरी होती है तो इससे आपका मानसिक स्वास्थ्य भी ठीक बना रहता है। बहुत ज़्यादा कैलोरी लेने से मानसिक स्तर पर भी परेशानियां शुरू हो जाती हैं।

साइट्रिक एसिड मेमोरी को धीमा नहीं होने देता

एक शोध के अनुसार संतरे में पाया जाने वाला साइट्रिक एसिड बहुत काम की चीज़ है। दिमाग की अनेक बीमारियों में साइट्रिक एसिड बहुत अच्छे रिजल्ट देता है। इसलिए आपको खट्टे फल खाना चाहिए। इनमें भरपूर मात्रा में साइट्रिक एसिड पाया जाता है। तो अब से आप भी संतरे के साथ खट्टे फल खाना शुरू कर दीजिये। संभव है आप बुढ़ापे में भी अच्छी मेमोरी के मालिक बने रहें।

संतरे का सेवन किस तरह आपकी याददाश्त को दुरुस्त बनाये रख सकता है? इस विषय पर आधारित ये पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे शेयर करें। कमेंट सेक्शन में अपने विचार लिखें को रेटिंग देना न भूलें।

मेंटल डिसऑर्डर से जुडी जानकारी के लिए हमारे हेल्थ A-Z और सेल्फ केयर सेक्शन को ज़रूर देखें। इसी तरह की अन्य जानकारी के लिए वामा टुडे के हेल्थ सेक्शन को विज़िट करना न भूलें।