ड्राई कफ को कहिये बाय-बाय इन होम रेमेडीज़ से

by | Oct 26, 2019 | Ayurveda, Therapy | 0 comments

सेल्फ केयर पर आप जितना ज़्यादा ध्यान देंगे आपका स्वास्थ्य उतना अच्छा रहेगा। लेकिन इसके लिए आपको अलर्ट रहना पड़ेगा। अलर्ट से मतलब कोई जंग नहीं लड़ना है बस अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना है। वैसे आप कितनी भी कोशिश क्यों न कर लें साधारण सर्दी-खांसी तो आपको हो ही जाती है। मौसम का बदलना भी सर्दी–ज़ुकाम का कारण हो सकता है। कारण कोई भी क्यों न हो लेकिन इससे आपको परेशानी तो होती ही है। स्थिति तब और खराब हो जाती है जब आपकी खांसी ड्राई कफ में बदल जाती है। आप भी इस समस्या से बहुत परेशान हो चुके हैं तो होम रेमेडीज़ फॉर ड्राई कफ ज़रूर ट्राय कीजिये। इसमें आप काली मिर्च के अलावा तुलसी का प्रयोग भी कर सकते हैं। शहद के अलावा लहसुन भी आपके ज़िद्दी कफ को दूर करने में मदद करते हैं। आइये इसके बारे में आपको विस्तार से बताते हैं।

होम रेमेडीज़ फॉर ड्राई कफ

लोगों को कफ के लिए होम रेमेडीज़ इस्तेमाल करने में सोचना पड़ता है। लेकिन होम रेमेडीज़ फॉर ड्राई कफ ही आपको पूरा आराम देते हैं। होम रेमेडीज़ फॉर ड्राई कफ बहुत आसान है और आपके घर में आसानी से उपलब्ध भी हैं। कुछ आसान-से उपायों को आप ट्राय कर सकते हैं। इससे आपकी समस्या जड़ से दूर हो जाती है।

अचूक है होम रेमेडीज़ फॉर ड्राई कफ

आप शायद इस बात पर विश्वास न करें, लेकिन होम रेमेडीज़ फॉर ड्राई कफ जड़ से समस्या खत्म करता है। लोग ये सोचकर होम रेमेडीज़ फॉर ड्राई कफ इस्तेमाल नहीं करते कि इससे क्या लाभ होगा। लेकिन इसके इफ़ेक्ट आपको समस्या से जल्द राहत देते हैं।

सेहत को प्रभावित करता है ड्राई कफ

जी हां ड्राई कफ आपकी दिनचर्या के साथ सेहत को भी प्रभावित करता है। ये कफ आपको इतना ज़्यादा परेशान कर देता है कि आप ठीक से सो भी नहीं पाते हैं। ड्राई कफ के कारण रोज़ के कामों को करने में भी समस्या आती है। इसलिए ज़रूरी है कि इसका समय पर इलाज हो जाये। कई बार आप इसके लिए इतना इलाज करवाते हैं पर कोई ख़ास परिणाम नहीं मिलते हैं। ऐसे में आपकी समस्या कम होने की बजाय बढ़ जाती है। इसलिए होम रेमेडीज़ फॉर ड्राई कफ ट्राय ज़रूर करें।

हर आयु वर्ग को परेशान करता है ड्राई कफ

ऐसा नहीं है कि ड्राई कफ सिर्फ बच्चों या बुज़ुर्ग लोगों को परेशान करता है। ये किसी भी आयु वर्ग के लोगों को हो सकता है। वैसे आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता का भी असर इस पर होता है। कुछ लोगों को बार-बार कफ की समस्या हो जाती है। क्योंकि उन्हें एलर्जी की शिकायत होती है। इसलिए इसे अनदेखा करना बिलकुल भी ठीक नहीं होता है।

काली मिर्च ड्राई कफ का सबसे अचूक इलाज

आपने देखा होगा कि ड्राई कफ के कारण बहुत समस्या होती है। बहुत सारे लोग काली मिर्च का काढ़ा बनाकर उपयोग में लाते हैं। इसके अलावा इस समस्या के लिए काली मिर्च को शहद के साथ चूसा भी जाता है। इससे धीरे-धीरे आपको आराम मिलने लगता है। काली मिर्च को पीसकर अदरक के रस के साथ भी प्रयोग किया जाता है। इस तरह की होम रेमेडीज़ फॉर ड्राई कफ आपके लिए बहुत उपयोगी होगी।

शहद से जल्द दूर होती है सूखी खांसी

आपके घर में पाया जाने वाला शहद भी आपकी ड्राई खांसी को जड़ से खत्म कर सकता है। इसके लिए आपको अदरक के रस के साथ शहद को चाटना चाहिए। इस तरह थोड़े दिनों में सूखी खांसी ठीक होने लगती है। इसके अलावा शहद में हल्दी मिलाकर उसका सेवन करने से भी कफ में काफी राहत मिलती है। तो आप भी ड्राई कफ लिए शहद का सेवन ज़रूर करें।

तुलसी बहुत फायदा करती है सूखी खांसी में

हर घर में अमूमन तुलसी का पौधा तो होता ही है। तुलसी अनेक रोगों के साथ ज़िद्दी कफ को भी दूर करती है। तुलसी का रस आपके कफ को जड़ से नष्ट करता है। रोज़ सुबह तुलसी की पत्तियों का रस निकालकर उसका सेवन करें। तुलसी में ऐसे तत्व मौजूद होते हैं जो आपकी सर्दी-खांसी पर जमकर प्रहार करते हैं। ऐसे में आपको ड्राई कफ में भी बहुत लाभ मिलता है।

लहसुन भी खांसी दूर करने में मदद करता है

जी हां लहसुन से भी आपके ज़िद्दी कफ को जड़ से खत्म किया जा सकता है। लहसुन की तासीर गर्म होती है। इससे आपके कफ का जमना कम होता जाता है। वैसे भी लहसुन आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा होता है। ड्राई कफ को दूर करने के लिए लहसुन को सेककर उसका सेवन करने से बहुत लाभ मिलता है। इसे सूंघने से भी आपको बहुत लाभ पहुंचता है।

तो आप भी ड्राई कफ के लिए इन उपायों को ज़रूर ट्राय करें। ड्राई कफ पर आधारित ये पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे शेयर करें। कमेंट सेक्शन में अपने विचार लिखें और पोस्ट को रेटिंग देना न भूलें।

आयुर्वेदा से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए हमारे थेरेपी सेक्शन को ज़रूर देखें। इसी तरह की अन्य जानकारी के लिए वामा टुडे के हेल्थ सेक्शन को ज़रूर विज़िट करें।