इन 4 समस्याओं में असरदार है नीम का तेल

by | Jun 27, 2020 | Naturopathy, Therapy | 0 comments

नेचुरोपैथी में ऐसे अनेक गुणकारी और असरकारक चीज़ों को शामिल किया जाता है जो हमारे लिए बहुत उपयोगी होती हैं। लेकिन हम इनके वास्तविक प्रयोग से अंजान रहते हैं। अब जैसे आप नीम का तेल ही ले लीजिये। जी हां नीम का तेल भी अनेक गुणकारी तत्वों से युक्त होता है। नीम के फायदों से तो आप भी अंजान नहीं होंगे? लेकिन इसका तेल भी उतना ही लाभकारी होता है। नेचुरोपैथी में इसे अनेक प्रकार से दवा के रुप में इस्तेमाल किया जाता है। आपको बता दें कि नीम का तेल स्किन इन्फेक्शन के लिए बेहद कारगर साबित हुआ है। जैसे हम पिम्पल्स की ही बात करें। कौन ऐसा होगा जो पिम्पल्स से छुटकारा नहीं पाना चाहता है। इसके लिए नीम एक असरकारक उपाय है। इसके अतिरिक्त टूथ एक में भी नीम का तेल कमाल दिखाता है। आप किसी फंगल इन्फेक्शन के लिए भी इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। चलिए हम आपको इसके और फायदे बताते हैं।

नीम का तेल अनेक स्वास्थ्य समस्याओं के लिए अचूक औषधि

आपको पता ही नहीं है कि आपके आस-पास कुदरत ने कितने अनमोल नज़राने दिए हैं। इन्हीं में है एक नीम का पेड़। कहने को तो ये एक साधारण पेड़ है लेकिन इसके गुण इतने अधिक हैं कि आप गिनते-गिनते थक जायेंगे। नीम का तेल भी अनेक तरह से आपके स्वास्थ्य को दुरुस्त करता है। आपको बता दें कि नीम के तेल में अनेक एंटीबैक्टेरियल और एंटीफंगल गुण मौजूद हैं। ये सारे गुण आपके स्वास्थ्य के लिए बेहद अहम होते हैं। जो लोग नीम के तेल के फायदों से परिचित हैं वो इसका लाभ ज़रुर उठाते हैं। तो आप भी अपने घर में नीम का तेल रखिये और इसका इस्तेमाल कीजिये।

दमा और श्वांस रोगों में भी उपयोगी होता है नीम का तेल

जो लोग दमा जैसी बीमारियों से ग्रसित हैं वो नीम का तेल उपयोग कर सकते हैं। यदि नीम के तेल की भाप भी ली जाये तो वो बहुत राहत पहुंचाती है। खासकर बहुत अधिक बलगम जमने पर नीम के तेल से भाप लेना फायदा पहुंचाता है। सर्दियों के दिनों में आप गर्म पानी करके उसमें 2-3 बूंदें नीम के तेल की डालें और उसकी भाप लें, लाभ ज़रुर होगा।

सोरायसिस जैसे इन्फेक्शन में भी नीम का तेल यूज़ होता है

अक्सर देखा जाता है कि अनेक लोग स्किन इन्फेक्शन से परेशान रहते हैं। लेकिन बहुत सारी कोशिशों के बाद भी उनकी समस्या दूर नहीं होती। जो लोग सोरायसिस जैसे स्किन इन्फेक्शन से जूंझ रहे होते हैं उनके लिए बड़ी पेचिदा परिस्थिति होती है। इसमें आप नीम के तेल की मालिश कर सकते हैं। जो आपको खुजली से निजात दिलाता है। इसके अलावा भी अन्य स्किन इन्फेक्शन आपके लिए बहुत परेशानी बन जाते हैं। जैसे एक्ज़िमा इसके लिए भी आप नीम का तेल इस्तेमाल कर सकते हैं।

पिम्पल्स से मुक्ति दिलाता है नीम का तेल

चेहरे पर होने वाले पिम्पल्स को दूर करने के लिए आप नीम के तेल का उपयोग कर सकते हैं। इसके लिए आप चेहरे पर इस तेल की भाप लीजिये। क्योंकि पिम्पल्स बैक्टीरिया के कारण होते हैं इसलिए इस तेल की भाप पोर्स से इन्फेक्शन को निकालती है। पिम्पल्स होने पर आप नीम के तेल में कपूर मिलाकर भी लगा सकते हैं।

बारिश में होने वाला फंगल इन्फेक्शन भी ठीक होता है नीम के तेल से

जैसे ही बारिश शुरू हुई अनेक त्वचा सम्बन्धी परेशानियां भी शुरु हो जाती हैं। इस मौसम में फंगल इन्फेक्शन होना भी आम बात है। आपको बता दें कि फंगल इन्फेक्शन में भी नीम का तेल उपयोगी होता है। नीम जाने वाले तत्व फंगल इन्फेक्शन को भी आसानी से दूर कर देते हैं।

टूथ एक में भी रामबाण इलाज है नीम का तेल

दांतों का दर्द अच्छे अच्छों का तेल निकाल देता है। अब समझ नहीं आता है कि टूथ एक में क्या किया जाये? ऐसे में आप नीम तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। टूथ एक होने पर आप प्रभावित स्थान पर नीम तेल लगाइये। यदि कीड़ा लगने पर टूथ एक हो रहा है तो इससे आपको बहुत जल्दी फायदा होगा। आप तो जानते ही हैं कि नीम की दातुन आपके दांतों को कितना फायदा पहुंचाती है।

नीम के तेल के स्वास्थ्य लाभ पर आधारित ये पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे शेयर करें। कमेंट सेक्शन में अपने विचार लिखें और पोस्ट को रेटिंग देना न भूलें।

नेचुरोपैथी से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए हमारे थेरेपी सेक्शन को ज़रुर देखें। इसी तरह की अन्य जानकारी के लिए वामा टुडे के हेल्थ सेक्शन को ज़रुर विज़िट करें।