ये सिम्पल रेमेडीज़ दूर करेंगे बर्निंग यूरिनेशन की समस्या को

by | Sep 22, 2020 | Self Care, Urinary Problems | 0 comments

यूरिनरी प्रॉब्लम के कारण कई बार आपकी ज़िंदगी मुसीबत से भर जाती है। सब कुछ होते हुए भी एक सज़ा की तरह ज़िंदगी जीने से बेहतर है कि इसका इलाज किया जाए। कहने को ये समस्या खतरनाक नहीं होती, लेकिन दर्दनाक और बहुत अधिक तकलीफदेह होती है। बर्निंग यूरिनेशन जिसे मेडिकल टर्म में डिसूरिया या मूत्र त्याग करते समय होने वाली जलन और दर्द से जोड़ा जा सकता है। वैसे तो इस समस्या के अनेक कारण होते हैं। लेकिन कुछ खास वजह होती हैं जिसके कारण डिसूरिया नाम की बीमारी हो जाती है। आप कुछ घरेलू उपाय करके इस तकलीफ से राहत पा सकते हैं। मिंट और लेमन का प्रयोग यूरिन में होने वाले संक्रमण को कम करता है। लिक्विड डाइट का होना भी आपको बहुत आराम पहुंचाता है। अगर आप कोकोनट वॉटर प्रयोग करते हैं तो इससे भी इस यूरिनल प्रॉब्लम में सुधार होता है। अगर आप भी इस बीमारी का शिकार हैं तो ये लेख आपके काम आएगा।

महिलाओं को अधिक होती है बर्निंग यूरिनेशन की समस्या

अक्सर देखा जाता है कि महिलाओं में बर्निंग यूरिनेशन मतलब डिसूरिया की परेशानी अधिक देखी जाती है। अधिकतर ये समस्या यूरिन इन्फेक्शन के कारण होती है। इसके अनेक कारण हो सकते हैं। महिलाओं में ये इन्फेक्शन उनके निजी अंगों की बनावट के कारण और बढ़ जाता है। बर्निंग यूरिनेशन की वजह से आपके जीवन में एक ठहराव आ जाता है। इसके साथ ही कभी-कभी ये तकलीफ इतनी अधिक बढ़ जाती है कि इसे ठीक होने में काफी समय लग जाता है। इसलिए आवश्यक है कि आप समय रहते इसका उपचार करवा लें। वैसे बर्निंग यूरिनेशन की समस्या किसी को भी हो सकती है।

दूसरी बीमारियों के कारण भी हो सकता है बर्निंग यूरिनेशन

केवल संक्रमण ही बर्निंग यूरिनेशन का कारण नहीं होता। दूसरी कुछ बीमारियों की वजह से भी ये समस्या उत्पन्न हो सकती है। संभव है कि आपको किसी यौन रोग के कारण बर्निंग यूरिनेशन हो रहा हो। या किसी दवा का सेवन या रेडियोथेरेपी भी इसका कारण हो सकती है। कई बार पीसीओडी भी बर्निंग यूरिनेशन का सबब बन सकता है। कीमोथेरपी के बाद भी कुछ मरीज़ों में ये समस्या देखी जा सकती है। हां अगर आपको पथरी की समस्या है तो भी आप यूरिन में जलन की समस्या से ग्रस्त हो सकते हैं।

छोटे बच्चों में कम देखी जाती है डिसूरिया की समस्या

एक बात जो देखने में आती है कि छोटे बच्चों में डिसूरिया की समस्या कम होती है। अक्सर डिसूरिया की समस्या 18 से लेकर 60 वर्ष की आयु के लोगों में देखी जाती है। कहने को डिसूरिया एक खतरनाक बीमारी नहीं है। लेकिन इसके कारण व्यक्ति को असहनीय शारीरिक कष्ट उठाना पड़ता है ना तो वह ठीक से खा सकता है ना पी सकता है और ना ही आराम कर सकता है। सही समय पर यदि डिसूरिया का उपचार करवा लिया जाए तो आसानी से इस समस्या से मुक्ति पाई जा सकती है।

दर्द के लिए अच्छी औषधि है लेमन

सभी लोग लेमन के गुणों से तो परिचित हैं ही। लेकिन आपको बता दें कि बर्निंग यूरिनेशन में भी लेमन बहुत काम आता है। इस दौरान होने वाले दर्द को दूर करने के लिए लेमन बहुत मददगार होता है। इसके लिए आप एक गिलास गुनगुने पानी में एक लेमन निचोड़ लें। इसके बाद उसमें एक चम्मच शहद डाल लें। इस पानी का सेवन लगातार करें। इससे दर्द के साथ बर्निंग यूरिनेशन की समस्या भी इससे ठीक हो जाती है।

कोकोनट वॉटर है एक बढ़िया हीलर

बर्निंग यूरिनेशन में कोकोनट वॉटर भी एक अच्छा उपचार साबित होता है। इस तरह की समस्या में आपको रोज़ एक गिलास कोकोनट वॉटर पीना चाहिए। आपको बता दें कि कोकोनट वॉटर में अधिक मात्रा में विटामिन और मिनरल्स पाए जाते हैं। इसलिए इससे इन्फ्लेमेशन जैसी समस्या आसानी से दूर होती है। इसके अलावा भी कोकोनट वॉटर अनेक स्वास्थ्य समस्याओं को दुरुस्त करता है।

मिंट से भी दूर होती है समस्या

जी हां मिंट न केवल एक अच्छा फ्रेशनर है बल्कि बर्निंग यूरिनेशन में भी आराम पहुंचाता है। मिंट से जलन की समस्या धीरे-धीरे ठीक होने लगती है। इसके लिए आपको पानी में उबालकर मिंट का सेवन करना चाहिए। लगातार ऐसा करने से समस्या ठीक होने लगती है।

तो आप भी इन घरेलू तरीकों से मूत्र में जलन और संक्रमण की समस्या को आसानी से दूर कर सकते हैं।

यूरिन में होने वाली जलन को दूर करने के घरेलू तरीकों पर आधारित ये पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे शेयर करें। कमेंट सेक्शन में अपने विचार लिखें और पोस्ट को रेटिंग देना न भूलें।

यूरिनरी प्रॉब्लम से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए हमारे हेल्थ A-Z और सेल्फ केयर सेक्शन को ज़रूर देखें। इसी तरह की अन्य जानकारी के लिए वामा टुडे के हेल्थ सेक्शन को विज़िट करना न भूलें।