वैजाइनल टाइटनिंग और रिकंस्ट्रक्शन से जुड़ी वेजिनोप्लास्टी

by | Feb 4, 2020 | Self Care, Vaginal Care | 0 comments

वैजाइनल केयर के लिए शायद महिलाओं में इतनी ज़्यादा समझ न हो। खैर समय के साथ तो बहुत सारे बदलाव आये हैं। लेकिन फिर भी बहुत सारी बातें ऐसी हैं जो आपका जानना ज़रूरी है। महानगरों में आजकल वेजिनोप्लास्टी का चलन बहुत ज़्यादा बढ़ गया है। सीधी तरह कहें तो ये एक रिजुवनेशन सर्जरी है। जिसमें वैजाइना को पहले की तरह बना दिया जाता है। देखिये महिलाओं के लिए यही तो समस्या रहती है। शादी के कुछ समय बाद जब एक महिला मां बन जाती है तो उसकी वैजाइनल टाइटनिंग खत्म हो जाती है। इससे महिला और उनके पार्टनर के बीच सेक्शुअल प्लेजर में रूकावट आने लगती है। यही नहीं शादी के पहले किसी वजह से महिला की योनी में आया ढीलापन इससे ठीक किया जा सकता है। इस सर्जरी को हम रिकंस्ट्रक्शन सर्जरी भी कह सकते हैं। इसके अंतर्गत हायमेनोप्लास्टी भी की जाती है, जो इस सर्जरी का ही एक हिस्सा है। अगर आप इसे प्लास्टिक सर्जरी समझ रहे हैं तो आपको बता दें ये उससे बिलकुल अलग है। अगर हम इसे रिजुवेंशन सर्जरी भी कहेंगे तो गलत नहीं होगा। आइये इसके बारे में हम आपको विस्तार से जानकारी दें।

क्या है वेजिनोप्लास्टी?

इसकी शुरुआत करने से पहले हम आपको बता दें कि वेजिनोप्लास्टी किसी तरह की प्लास्टिक सर्जरी नहीं है। बल्कि ये तो एक तरह से रिकंस्ट्रक्शन सर्जरी है। इसका अर्थ है कि ये किसी महिला की योनी को पहले जैसा बना सकती है। वेजिनोप्लास्टी की सुविधा आमतौर पर महानगरों में पाई जाती है। इसलिए छोटे स्थानों पर महिलाओं को वेजिनोप्लास्टी की कोई जानकारी नहीं होती है। हालांकि बड़े शहरों में भी कम ही महिलाओं को इस बारे में कुछ पता होगा। लेकिन आने वाली जनरेशन की लड़कियों को इस नई तकनीक के बारे में काफी कुछ पता होता है। देखा जाये तो अधिकतर महिलाएं वैजाइनल टाइटनिंग के लिए ही वेजिनोप्लास्टी करवाती हैं।

बढ़ती उम्र के प्रभाव को कम करती है वेजिनोप्लास्टी

अगर ये कहा जाये कि वेजिनोप्लास्टी बढ़ती उम्र के लिए एक वरदान है तो ये गलत नहीं होगा। अक्सर शादी के बाद जब बच्चे हो जाते हैं तो महिला की वैजाइना में ढीलापन आ जाता है। इससे कई तरह की समस्याएं होती हैं। यूरिन का अचानक निकल जाना या यौन संबंधों में संतुष्टि की कमी। वेजिनोप्लास्टी से ये सभी चीज़ें ठीक हो जाती हैं।

क्यों होती है हायमेनोप्लास्टी की ज़रूरत?

इस शब्द को सुनकर अधिकतर महिलाएं शायद सोच में पड़ जाएं। परेशान मत होइए, हम आपको बताते हैं हायमेनोप्लास्टी के बारे में। दरअसल हायमेनोप्लास्टी से एक महिला या लड़की अपने कौमार्य को फिर से पा सकती है। इस सर्जरी के अंतर्गत महिला की योनीद्वार पर स्थित झिल्ली को फिर से बनाया जाता है। यह वही झिल्ली होती है जिसे, कुंवारी लड़की के कौमार्य का प्रतीक माना जाता है। लेकिन आपको एक बात और भी बता दें कि ये झिल्ली अनेक कारणों से ऐसे भी टूट सकती है। जैसे लड़की यदि खिलाड़ी हो तो या उसका वज़न अधिक हो। संभव है कि भागने, दौड़ने, उछलने से भी ये झिल्ली टूट जाये। लेकिन हमारे पुरुषवादी सोच में कभी-कभी रूढ़िवादिता का पुट देखने को मिलता है। इस वजह से भी लड़कियां हायमेनोप्लास्टी करवाती हैं। हायमेनोप्लास्टी से वह अपनी वैजाइना पहले की तरह कर सकती हैं।

वैजाइनल टाइटनिंग से सेक्स संबंधों में आ सकती है पहले जैसी ताज़गी

देखने में आता है कि जैसे-जैसे वैजाइनल टाइटनिंग खत्म होती जाती है, सेक्स के प्रति रुझान कम होता जाता है। वेजिनोप्लास्टी से वैजाइनल टाइटनिंग भी की जा सकती है। इससे पहले की तरह यौन संतुष्टि पाई जा सकती है। लेकिन इसके लिए महिला की इच्छा होना ज़रूरी है। वैजाइनल टाइटनिंग के लिए एक महिला की सहमती सबसे ज़्यादा मायने रखती है। इसके लिए पहले किसी अच्छे डॉक्टर से सलाह लेना उचित रहता है। साथ ही आपको ये बता दें कि वेजिनोप्लास्टी की सुविधा हमारे देश में केवल कुछ स्थानों पर ही मौजूद है। इसलिए इस बारे में पहले से जानकारी लेना उचित रहता है।

वेजिनोप्लास्टी पर आधारित ये पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे शेयर करें। कमेंट सेक्शन में अपने विचार लिखें और पोस्ट को रेटिंग देना न भूलें।

वैजाइनल केयर से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए हमारे हेल्थ A-Z और सेल्फ केयर सेक्शन को ज़रूर देखें। इसी तरह की अन्य जानकारी के लिए वामा टुडे के हेल्थ सेक्शन को भी विज़िट करना न भूलें।