अगर आप स्नीज़िंग को रोकते हैं तो हो सकती हैं ये परेशानियां

by | Mar 16, 2020 | Self Care, Wellness | 0 comments

वेलनेस का संबंध सीधे आपके स्वास्थ्य से जुड़ा होता है। इसके लिए आपको हर वो संभव प्रयास करना चाहिए जो आपको एक खुशहाल और सेहतमंद जीवन दे सके। लेकिन कई बार हम कुछ इस तरह की गलतियों को दोहराने लगते हैं, जो जाने-अनजाने हमे बीमार कर सकती हैं। अच्छा एक बात बताइए, क्या आप अपनी छींक मतलब स्नीज़िंग को रोकते हैं? अगर इसका जवाब हां हैं तो आपको बता दें कि ये स्थिति बहुत खतरनाक हो सकती है। जी हां आप शायद इसे मज़ाक समझ रहे हों, लेकिन ये सही बात है।छींक को रोकने से आपके इयर ड्रम खराब हो सकते हैं। साथ ही आपकी ब्लड वेसल्स भी डैमेज हो सकती हैं। देखिये छींकने के बहुत सारे कारण हो सकते हैं। हो सकता है आपको एलर्जी हुई हो। या फिर साइनोसाइटिस की वजह से भी आपको स्नीज़िंग हो सकती है। कारण जो भी हो लेकिन आपको किसी भी दशा में अपनी छींक को नहीं रोकना है। आइये जानते हैं कि ऐसा करने से आपको क्या परेशानियां हो सकती हैं?

एक प्राकृतिक क्रिया है स्नीज़िंग

जी हां स्नीज़िंग एक प्राकृतिक क्रिया ही है। कभी अचानक आपको बैठे-बैठे छींक आ सकती है। ये भी संभव है कि आपको सर्दी-खांसी हुई हो। दरअसल जब आपके नाक से सांस लेने पर उसमें कुछ डस्ट पार्टिकल्स या कुछ अन्य बाहरी दूषित कण प्रवेश का जाते हैं। इसके कारण आपको अचानक छींक आ जाती है और आपको राहत मिलती है। कभी-कभी आपके किचन में भी कोई सब्जी बनाते समय या तड़का लगाते समय आपको अचानक स्नीज़िंग होने लग जाये। इससे पूरा घर ही छींकने और खांसने लगता है।

अचानक स्नीज़िंग को रोका जाना पड़ सकता है भारी

आप अच्छे-खासे बैठे हुए हैं और अचानक आपको स्नीज़िंग हो जाये तो ये संभव नहीं उसे आप रोक सकें। लेकिन फिर भी आप यदि इस तरह की कोई कोशिश करते हैं तो ये आपकी जान के लिए भी खतरा बन सकता है। ऐसा आप मज़ाक में करने की कोशिश भी मत कीजिये। जो एक स्वाभाविक प्रक्रिया है उसे रोका जाना ठीक नहीं होता।

इयर ड्रम को हो सकता है नुकसान

जब आप जानबूझकर स्नीज़िंग को रोकने की कोशिश करते हैं तो इससे इयर ड्रम को नुकसान हो सकता है। जी हां जब भी स्नीज़िंग की प्रोसेस होती है तो आपके नाक, कान, गले और सिर की नसों में एक प्रेशर बनता है। इसे जबदस्ती रोकने से आपके कान के पर्दे मतलब इयर ड्रम डैमेज हो सकते हैं। क्योंकि आप एक ज़ोरदार प्रेशर को रोकने की कोशिश कर रहे हैं। संभव है कि आपके इयर ड्रम फट जाएं और आपको सुनाई देना भी बंद हो जाये।

ब्लड वेसल्स भी हो सकते हैं प्रभावित

आपकी स्नीज़िंग रोकने की कोशिश आपकी ब्लड वेसल्स को भी अफेक्ट कर सकती है। संभव है कि ये ब्लड वेसल्स आपके आंख, या फिर दिमाग से भी जुड़ी हों। इसलिए आप कोशिश न करें कि आपकी ब्लड वेसल्स को किसी भी तरह का नुकसान हो।

एलर्जी से होने वाली छींक को भी न रोकें

जैसे हमने आपको पहले भी बताया कि स्नीज़िंग आपको एलर्जी से भी हो सकती है। एलर्जी से आपको बार-बार छींक आ सकती है। इसलिए ज़रूरी है कि आप एलर्जी से आने वाली किसी भी छींक को रोकने का प्रयास न करें। जब तक एलर्जी पूरी तरह ठीक न हो जाये डॉक्टर की सलाह पर अमल करें।

सायनोसायटिस में भी न करें छींक रोकने का प्रयास

जो लोग सायनोसायटिस से ग्रसित होते हैं उन्हें भी बहुत स्नीज़िंग होती है। ऐसे में सायनोसायटिस का इलाज करवाना भी ज़रूरी होता है। अगर आप सायनोसायटिस में छींक रोकने की कोशिश करते हैं तो आपको सांस लेने में भी परेशानी हो सकती है। इसलिएइस बात का विशेष ध्यान रखना ज़रूरी है।

स्नीज़िंग को रोकना हो सकता है खतरनाक, ये आपने इस पोस्ट के द्वारा जाना। अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई हो तो इस शेयर करें। कमेंट सेक्शन में अपने विचार लिखें और पोस्ट को रतनग देना न भूलें।

वेलनेस से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए हमारे हेल्थ A-Z और सेल्फ केयर सेक्शन को ज़रूर विज़िट करें। इसी तरह की अन्य जानकारी के लिए वामा टुडे के हेल्थ सेक्शन को विज़िट करना न भूलें।